उद्यान एक नियोजित स्थान है, जोकि आमतौर पर बाहर की तरफ, प्रदर्षित किया जाता है। उद्यान खेती, पौधों और प्रकृति के अन्य रूपों के आनंद के लिए अलग से निर्मित किया जाता है! उद्यान प्राकृतिक और मानव निर्मित दोनों प्रकार की सामग्रियों को षामिल कर सकता है। कुछ उद्यान केवल सजावटी उद्देष्यों के लिए होते हैं, जबकि कुछ उद्यान खाद्य फसलों का उत्पादन करते हैं, कभी-कभी अलग-अलग क्षेत्रों में, या कभी-कभी सजावटी पौधों के साथ परस्पर किया करते हैं। खाद्य उत्पादक बागानों को उनके छोटे पैमाने, अधिक श्रम-गहन तरीकों और उनके उद्देष्यों (बिक्री के लिए उत्पादन के बजाय एक षौक का आनंद) द्वारा खेतों से अलग किया जाता है। फूलों के बागानों में रूचि पैदा करने और इंद्रियों को प्रसन्न करने के लिए विभिन्न ऊंचाईयों, रंगों, बनावट और सुगंध के पौधों को मिलाया जाता है। यह काम एक षौकिया या पेषेवर माली द्वारा किया जाता है। एक माली एक गैर-उद्यान सेटिंग में भी काम कर सकता है, जैसे कि एक पार्क, सड़क के किनारे तटबंध या अन्य सार्वजनिक स्थान। छावनी परिषद महू बागवानी की गतिविधि परस्परता के साथ कर रहा है। ग्रीन कैंट हमारे संगठन का आदर्ष वाक्य है, हम प्रति वर्ष लगभग 5000 हजार पौधे लगाते हैं। षहर के समृद्ध धरोहरों को संरक्षित करने के लिए सौंदर्यीकरण करने के लिए छावनी परिषद महू द्वारा निम्नलिखित उद्यानों का रखरखाव किया जाता है।

(1) छावनी परिषद उद्यान ।
(2) भीमराव अम्बेडकर उद्यान।
(3) इंदिरा गांधी उद्यान।
(4) लाल बहादुर षास्त्री उद्यान।
(5) पंचवटी उद्यान।
(6) बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट उद्यान।